HOME

                                                                                                    मिथिय एवं सत्य


                                                                    होम्योपैथी से संबंधित कुछ भ्रम एवं उनसे जुड़े तथ्य
 

होम्योपैथी धीरे-धीरे असर करती है या इसमें इलाज लम्बे समय तक कराना पड़ता है। होम्योपैथी, मेडिकल साइंस पर आधारित है जो अन्य किसी दूसरी चिकित्सा पद्धति (एलोपैथी एवं आयुर्वेद) से भी तेज कार्य करती है। लम्बे समय तक इलाज की आवश्यकता निम्न दो सिथतियों में लगती है।

अ. यदि बिमारी बहुत पुरानी हो- सामान्यत: लोग ऐसी ही तकलीफों के लिए होम्योपैथी दवाओं का सेवन करते है जो
      बीमारियां कर्इ वर्षो से है।
ब. यदि एक ही बीमारी बार-बार हो- ऐसी तकलीफों के लिए होम्योपैथी एक वरदान से कम नहीं है क्योंकि होम्योपैथी हीएक  
    मात्र ऐसी चिकित्सा पद्धति है जो प्राकृतिक रूप से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर ऐसी तकलीफों की  पुनरावृतित
    रोकती है पर ऐसी तकलीफो के लिए लम्बे समय का इलाज आवश्यक होता है। 
महत्वपूर्ण बात यह है कि ऐसी तकलीफों में व्यकित जब स्वस्थ रहता है उस समय दवा लेना सर्वश्रेष्ठ होता है, क्यों कि इसी समय दवा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता है, पर सामान्यत: यह पाया गया है कि जब स्वास्थ ठीक होते रहता है व्यकित नियमित रुप से दवा लेने में लापरवाही करते है और यही इलाज के समय को और लंबा कर देती है।


 

मिथिया- होम्योपैथी एक रहस्यमय अवैज्ञानिक तथा Unproved System of medicine हैं
सत्य होम्योपैथी दवाइयाँ फार्मेसी लैब में मानक मापदण्डों के आधार पर तैयार की जाती है पूर्ण रूप से वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित है।
 
 मिथिया-  होम्योपैथी दवाइयाँ केवल शक्कर भी की छोटी गोलियाँ होती जो Placebo की तरह काम करती है तथा इनमें कोर्इ भी औषधियगुण नहीं होता है।
सत्य  जी हाँ सादी शक्कर की छोटी गोलियों में किसी भी तरह की medicinal value नहीं होती है। यह केवल होम्योपैथीक दवाइयों को मरीज तक tranfer  करने के लिए वाहक का कार्य करती है। अन्यथा होम्योपैथिक दवाइयों को सीधे या पानी में धोलकर लेना पड़ता है। Placebo non medicated sugar pills  होती है जो रोगी के चिकित्सक के प्रति भरोसे को बनाये रखने के लिये दी जाती है जिससे रोगी की पूरी तरह से ठीक होने की इच्छा शकित सबल रहे।
 
मिथिया- होम्योपैथी केवल लम्बे समय से चलने वाली पुरानी बीमारी तथा असाध्य रोगों के लिये कारगर है।
सत्य जी हाँ प्राय: यह सही है जब रोगी जब सारे इलाज कराने के बाद थक जाते है तब अंतिम में होम्योपैथी की ओर आते है तथा लम्बे समय से चल रहे एलोपैथिक दवाइयों के सेवन से समस्या बड़ा रूप ले लेती है अत: समस्या के ठीक होने में समय लगना स्वाभाविक है यदि बीमारी की आरमिभक अवस्था में ही होम्योपैथी दवाइयाँ ले ली जाए बहुत ही कम समय में बीमार ठीक हो जाएगी।  
 
मिथिया- होम्योपैथी मधुमेेह डायबिटीज के रोगियों में उपयोग नहीं की जा सकती।
सत्य उपयोग की जा सकती है बहुत ही सूक्ष्म मात्रा में Sugar Pills  लेने पर कोर्इ नुकसान नहीं है। दिन प्रतिदिन के भोजन में शर्करा की मात्रा अनिवार्य है जो कि कुछ Sugar Pills  से अधिक होती है परन्तु बहुत ही severe case  में होम्योपैथिक dilutions पानी के साथ ली जा सकती है।
 
मिथिया- होम्योपैथी चिकित्साक एक ही प्रकार की सफेद गोलियों को सारे रोगों में देते है यह कैसे प्रभावी हो सकती है।
सत्य

 रोगी के रोग के आधार पर होम्योपैथी चिकित्सक हर रोगी को अलग दवा देते है एक जैसी दिखने वाले sugar pills  को मरीज तक पहुँचाने के लिये वाहक का कार्य करती है 3000 से अधिक dilutions में से चिकित्साक द्वारा रोगी के लक्षणों की समानता के आणार पर एक दवार्इ एक व्यकित विशेष को दी जाती है। के साथ ली जा सकती है।

 
मिथिया-  होम्योपैथी में बहुत सी चीजों का परहेज करना पड़ता है।
सत्य वस्तुत: ऐसी चीजों की मात्रा बहुत ही सीमित है और से भी मुख्यत: नशा उत्पन्न करने वाली चीजे जैसे की तम्बाकू, शराब आदि है।


                      And More..........
 

 
हम से होम्योपैथिक उपचार की जरूरत मरीजों - दमा, गठिया, आत्मकेंद्रित, बांझपन, PCOD, दूध एलर्जी, IHD, एआर, एमआर, यूके, सिर दर्द, अनिद्रा आदि जैसे कोई पुरानी बीमारी, के लिए
 

<meta name="msvalidate.01" content="" /><meta id="MetaDescription" name="DESCRIPTION" content="Doctor/Medical Specialists with specialisation in HOMEOPATHY in RAIPUR" /><meta id="MetaKeywords" name="KEYWORDS" content="Homeopathy doctor in RAIPUR, , Bestdoctor in RAIPUR" /><meta name="googlebot" content="INDEX, FOLLOW" /><meta name="YahooSeeker" content="INDEX, FOLLOW" /><meta name="msnbot" content="INDEX, FOLLOW" /><meta name="DISTRIBUTION" content="GLOBAL" /><meta name="ROBOTS" content="INDEX,FOLLOW" /><meta name="REVISIT-AFTER" content="1 DAYS" /><meta name="RATING" content="GENERAL" /><meta id="MetaGenerator"name="GENERATOR" content="DotNetNuke " /><meta http-equiv="PAGE-ENTER" content="RevealTrans(Duration=0,Transition=1)" /><metaname="viewport" content="width=device-width, maximum-scale=1.0, minimum-scale=1.0" /><meta http-equiv="X-UA-Compatible"content="IE=EmulateIE9" />